दिल्ली जाने की फिराक में थे 18 रोहिंग्या, त्रिपुरा में हुए गिरफ्तार

Daily news network Posted: 2018-04-20 08:47:58 IST Updated: 2018-04-20 10:31:42 IST
दिल्ली जाने की फिराक में थे 18 रोहिंग्या, त्रिपुरा में हुए गिरफ्तार
  • खोवाई जिले के तेलियामुरा क्षेत्र से 18 रोहिंग्या शरणार्थियों को अवैध तरीके से भारत में घुसने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

अगरतला

पुलिस ने  खोवाई जिले के तेलियामुरा क्षेत्र से 18 रोहिंग्याओं को अवैध तरीके से भारत में घुसने के आरोप में गिरफ्तार किया। ये सभी रोहिंग्या बांग्लादेश के शिविरों से कथित तौर पर भागकर नई दिल्ली जाने की फिराक में थे।



खोवाई जिले के पुलिस अधीक्षक कृष्णेन्दु चक्रवर्ती ने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने गुवाहाटी जा रहे एक बस में छापा मारकर 18 रोहिंग्या शरणार्थियों (11 पुरुष, तीन महिलाएं और चार बच्चों ) को गिरफ्तार कर लिया।


पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ये सभी पड़ोसी देश बांग्लादेश के चटगांव से आए हैं, लेकिन अभी तक यह नहीं पता चल पाया है कि यह किस रास्ते से आए क्योंकि ये लोग इस संबंध में भ्रामक बयान दे रहे थे। ये सभी नौकरी की तलाश में दिल्ली के विकास नगर जा रहे हैं, जहां कई अन्य रोहिंग्या मुस्लिम रह रहे हैं। पुलिस के अनुसार रोहिंग्या शरणार्थी त्रिपुरा के रास्ते भारत में प्रवेश कर जाते हैं। बता दें कि त्रिपुरा में बांग्लादेश के साथ 856 किलोमीटर सीमा लगती है, जिससे आए दिन घुसपैठ के कई मामले सामने आते रहते हैं। 


आपको बता दें कि भारत सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर रोहिंग्या मुस्लिमों को देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा बताया था। सरकार भारत में अवैध रूप से रह रहे करीब 40 हजार रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस भेजने की तैयारी में है।

गौरतलब है कि पूर्वोत्तर के चार राज्यों अरुणाचल प्रदेश (520 किलोमीटर), मणिपुर(398 किलोमीटर), मिजोरम(510 किलोमीटर) और नागालैंड(215 किलोमीटर) की खुली सीमा म्यांमार से लगती है। मेघालय के अलावा जिन राज्यों की सीमा बांग्लादेश से लगती है, उनमें बंगाल(2,216 किलोमीटर), असम(236 किलोमीटर), त्रिपुरा (856 किलोमीटर) और मिजोरम(318 किलोमीटर) शामिल है। बीएसएफ के अलावा भारत म्यांमार सीमा पर तैनात असम राइफल्स के जवान भी रोहिंग्या मुस्लिमों की घुसपैठ की संभावना के चलत हाई अलर्ट पर हैं।