मौसम विभाग की चेतावनी, हल्की से बारिश के साथ धूल भरी आंधी की संभावना

Daily news network Posted: 2018-05-17 17:28:20 IST Updated: 2018-05-17 17:34:05 IST
मौसम विभाग की चेतावनी, हल्की से बारिश के साथ धूल भरी आंधी की संभावना
  • मौसम विभाग के द्वारा जारी की गर्इ चेतावनी के मुताबिक आगामी 24 घंटों के दौरान त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम, केरल और ओडिशा जैसे कुछ स्थानों पर हल्की बारिश की संभावना है।

नर्इ दिल्ली।

मौसम विभाग के द्वारा जारी की गर्इ चेतावनी के मुताबिक आगामी 24 घंटों के दौरान त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम, केरल और ओडिशा जैसे कुछ स्थानों पर हल्की बारिश की संभावना है। इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तर पश्चिम बंगाल, उत्तर-पूर्वी राज्यों और सिक्किम में कई जगहों पर हल्की बारिश की उम्मीद है। पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर-पश्चिम उत्तर प्रदेश, दक्षिण मध्य प्रदेश, विदर्भ, मराठवाड़ा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु में बारिश, धूल भरी आंधी आ सकती है।



इन शहरों में मौसम

दिल्ली में धूल भरी आंधी की संभावना है, जबकि मुंबई और चेन्नई में आंशिक बादल देखे जायेंगे। कोलकाता गर्म रहेगा, मगर वर्षा और आंधी की उम्मीद है। आंशिक बादल की स्थिति और बारिश की संभावना के साथ हैदराबाद गर्म और आर्द्र रहेगा। बेंगलुरु में बारिश की संभावना के साथ आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे।



देश में पिछले 24 घंटों के दौरान दर्ज किया गया मौसम

पश्चिम बंगाल, उत्तर ओडिशा और पूर्वोत्तर राज्यों, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र और केरल के कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। पूर्वोत्तर राज्य, पूर्वोत्तर बिहार, उत्तर पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, विदर्भ, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान में बारिश हुई।


देश भर में बने मौसम की जानकरी

उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान में एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। इससे प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान और इससे सटे राजस्थान पर है। इस प्रणाली से उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश तक एक ट्रफ़ रेखा जा रही है। एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तरी पश्चिम बंगाल और आस-पास के बांग्लादेश पर बना हुआ है। उत्तरी उत्तर प्रदेश से नागालैंड तक एक ट्रफ रेखा जा रही है।


एक और ट्रफ रेखा दक्षिण मध्य प्रदेश से विदर्भ होते हुए तटीय कर्नाटक तक जा रही है। केरल तट के दक्षिण में एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र कोमोरिन और आसपास के तमिलनाडु तट पर है।