मणिपुर में बन रहा विश्व का सबसे ऊंचा रेलवे पुल, दो कुतुबमीनार के बराबर होगी ऊंचाई

Daily news network Posted: 2018-05-15 12:26:43 IST Updated: 2018-05-15 12:49:27 IST
मणिपुर में बन रहा विश्व का सबसे ऊंचा रेलवे पुल, दो कुतुबमीनार के बराबर होगी ऊंचाई
  • मणिपुर के आइरिंग नदी पर बन रहा है विश्व का सबसे बड़ा पुल, अभी तक विश्व में सबसे ऊंचे पिलर ब्रिज का रिकार्ड यूरोपियन कंट्री बेलग्रेड-बार रेलवे ब्रिज के नाम था।

इंफाल।

मणिपुर के आइरिंग नदी पर बन रहा है विश्व का सबसे बड़ा पुल, अभी तक विश्व में सबसे ऊंचे पिलर ब्रिज का रिकार्ड यूरोपियन कंट्री बेलग्रेड-बार रेलवे ब्रिज के नाम था। इस ब्रिज के पिलर की ऊंचाई 139 मीटर है। जबकि मणिपुर की आइरिंग नदी पर बन रहे पुल की ऊंचाई 141 मीटर है। यानि निर्माणाधीन पुल की ऊंचाई दो कुतुबमीनार की जितनी है। 


रेलपांत आैर बीएसपी पर रेलवे ने जताया भरोसा

इस पिलर में इस्ततेमाल की जाने वाली प्लेट्स के लिए रेलवे ने रेलपांत के साथ ही बीएसपी के एक और उत्पाद पर भरोसा जताया है। रेलवे देशभर में जितने भी बड़े ब्रिज का निर्माण करवा रहा है ज्यादातर में बीएसपी के प्लेट्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसलिए मणिपुर में बन रहे विश्व के सबसे ऊंचा ब्रिज पिलर में भी यही प्लेट्स इस्तेमाल की जायेंगी। रेलपांत के बाद प्लेट्स के उत्पाद में भी बीएसपी की पकड़ मजबूत बनती जा रही है। पिछले वित्तीय वर्ष में 20 फीसदी अधिक प्लेट्स का निर्यात कर बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा की कमाई की। अब बीएसपी के प्लेट्स के उत्पाद का इस्तेमाल रेलवे ने भी करना शुरू कर दिया है।



ब्रिज 111 किमी रेल लाइन को जोड़ेगा

रेलवे ब्रिज से जुड़े ज्यादातर मेजर प्रोजेक्ट में उसके खास ग्रेड के प्लेट्स का उपयोग किया जा रहा है। इनमें मणिपुर में निर्माणाधीन विश्व का सबसे ऊंचा पिलर वाला पुलिया प्रमुख है। इस ब्रिज का निर्माण जिरीबूम-टुपुल-इंफाल के बीच 111 किमी रेल लाइन को जोड़ेगी। इस प्रोजेक्ट का मकसद उत्तर-पूर्वी राज्यों को देश के बाकी हिस्सों से सीधे तौर पर जोड़ना है।



दो स्पेशल ग्रेड के प्लेट्स


मणिपुर में निर्माणाधीन विश्व के सबसे ऊंचे ब्रिज के लिए नार्दन फ्रंटियर रेलवे (एनएफआर) ने बीएसपी से दो अलग-अलग खास ग्रेड की 3587 टन प्लेट्स की डिमांड की थी। बीएसपी द्वारा 2600 टन प्लेट्स की सप्लाई की जा चुकी है।



रेलवे के इन प्रोजेक्ट में भी हैं बीएसपी के प्लेट्स


प्रोजेक्ट डिमांड (टन में)


यमुना ब्रिज 4000


श्रीनगर झेलम 2700


व्यास नदी पंजाब 2500


सतलज नदी 2200